Janmashtmi Celebration at Brahmakumaris Sector 7 , Karnal

राजयोग मैडिटेशन द्वारा पारिवारिक समस्यायों का समाधान – 4 मार्च 2018

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की और से 4 मार्च  2018 को राजयोग मैडिटेशन द्वारा पारिवारिक समस्यायों का समाधान विषय पर एक आध्यात्मिक कार्यक्रम करनाल सेक्टर 7 सेन्टर में रखा गया |

जिसमे आ. राजयोगिनी चक्रधारी दीदी जी (निदेशक, ब्रह्मकुमारिज़ रशिया ) ने कहा सभी की चाहना होती है हमारे परिवार में सुख शांति , कुशल मंगल , आनंद मौज हो पर देखा जाता है आज घर घर में कलह कलेश ,तनाव , अशांति , दुःख किसी न किसी समस्या के कारण रहता ही है | सभी संबंधो में अहम के टकरावो के कारण खीचतान, मतभेद, आपसी समझ की कमी देखने में आती है , कभी धन की, तो कभी बीमारी की एवं बच्चो के सम्बंधित अनेक समस्याएं है |

कई बार अचानक से ऐसी समस्या आ जाती है जिसके बारे में ना सुना होता है | आज परिवार में स्वार्थ बढ़ता जा रहा है जिससे घर परिवार टूट रहे है युवा पीढ़ी के नैतिक मूल्यों में काफी गिरावट आई है |

इन सब समस्याओ का मूल कारण किसी न किसी नैतिक मूल्य या दिव्य गुण का आभाव है | आज सहनशीलता, समायोजन, स्नेह, सम्मान, सहयोग, मधुरता, नम्रता, विश्वास  इत्यादि गुणों की कमी के कारण घर परिवार दुखी है |

माउंट आबू से पधारी ब्रह्माकुमारी डॉ. सविता दीदी मुख्यालय को ओर्डिनाटर महिला प्रभाग ने कहा अध्यात्मिक ज्ञान एवं सहज राजयोग जो ब्रह्मकुमारिज़ में सिखाया जाता है इसके अभ्यास से सहज ही जीवन में गुणों एवं शक्तियों का विकास होने लगता है |जिससे घर परिवार के वातावरण में परिवर्तन आता है | राजयोग के अभ्यास से घर घर को स्वर्ग , गृहस्थ को आश्रम बनाया जा सकता है |

इस मौके पर डॉ सुमन मंजरी जी ( रिटायर्ड आई .जी मधुवन) कार्यक्रम में बतौर मुख्य अथिति के रूप में शिरकत की उन्हीने अपना अनुभव साँझा करते हुए कहा कि में इस संस्था से काफी सालो से जुडी हूँ | और निरंतर राजयोग का अभ्यास करती हूँ जिससे में ना केवल परिवार बल्कि कार्य स्थल में भी निपुणता से हर परिस्थितियों का हल कर पाती हूँ |

इस मौके पर भ्राता नरेन्दर अरोराजी (राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रतिमा रक्षा सम्मान समिति) बतौर अध्यक्ष कार्यक्रम में शिरकत की |

सुश्री डॉ दमयंती शर्मा जी (योगाचार्य, दिव्य योग अभ्यास मंदिर ) तथा श्रीमती अंजू शर्मा (प्रेसिडेंट, इनर व्हील क्लब मिड टाउन) सम्मानीय अतिथि के रूप में कार्यक्रम में पधारकर अपने वक्तव्य दिए |

इस मौके पर बेटी बचाओ सशक्त बनाओ विषय पर छोटे बच्चो ने नाटिका प्रस्तुत कर लोगो को जागरूक किया |

राजयोगिनी प्रेम दीदी स्थानीय संचालिका करनाल ने आये हुए मेहमानों का स्वागत किया | इस मौके पर राजयोगी मेहरचंद जी, संगीता बहन संचालिका देवबंद सेन्टर ने भी अपने विचार रखे | इस कार्यक्रम पर हज़ारो लोगो ने पहुचकर कार्यक्रम का लाभ लिया |

Rajyog Shivir

संसार का हर मनुष्य सुख–शांति की तलाश में रोज मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरूद्वारे में गुहार लगा रहा है। पूजा, पाठ, आरती, व्रत, उपवास, तीर्थ आदि धक्के खा खाकर इंसान थक गया है लेकिन सुख शांति आज भी कोसों दूर है.. बल्कि दुख, अशांति बढ़ती जा रही है, इसका एकमात्र कारण है देह अभिमान में वृद्धि होना और इन सब समस्याओं का एकमात्र निवारण और सुख, शान्ति का एकमात्र रास्ता स्व आत्मा का ज्ञान और परमात्मा की सही पहचान । इसी सत्य ईश्वरीय ज्ञान से और ईश्वर प्रदत्त राजयोग मेडिटेशन से सच्ची सुख, शान्ति का खजाना सहज ही मिल जाता है और सारा जीवन तनाव मुक्त होकर खुशहाल हो जाता है।”

प्रात: 10 से 12 एवं संध्या 5 से8 बजे तक राजयोग मेडिटेशन का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जायेगा